XXX Vale – Hindi XXX Stories For Adults

18+ Sexually Explicit Contents

संभोग की भूखी वेश्या को चोदा XXX Kahani In Hindi

सेक्स की भूखी ब्यूटीफुल वेश्या लड़की को चोदा XXX Kahani In Hindi : हेल्लो दोस्तों कैसो हो आप सभी उम्मीद करता हूँ की आप सभी बहुत अच्छे होंगे. दोस्तों, मेरा नाम अभिषेक है. मेरी उम्र 28 साल है और में मुंबई में अकेला रहकर जॉब करता हूँ. मुझे पिछले कुछ सालों से अपने मित्र से गदराई कहा नियों का पता चला और मैंने उन्हें पढ़ना प्रारम्भ करा. यहाँ भी देखें >> गरम माल सपना चौधरी की प्रजनन नलिका में मेरा स्पर्म Free XXX Hindi Nonveg Sex Story For Adults 18+ Hindi Chudai Kahani यह सभी मुझे बहुत लगी और मुझे बड़ा आनंद आने लगा मेरा मन बहुत प्रसन था. इस काम को करके और फिर एक दफे मेरे मन में अपनी इस घटना को भी लिखने का विचार आ गया और मैंने लिखकर आज आप सभी की सेवा में हाजिर किया है. यह बात फरवरी महीने की है, जब में मुंबई में नया नया जॉब के लिए आया था और मुझे कुछ दिनों लगातार मेहनत करने के बाद वहाँ पर एक प्राइवेट कंपनी में जॉब मिल ही गई.

दोस्तों उस काम में मुझे बड़ी बड़ी कंपनी में जाकर हमारी कंपनी के माल के बारे में उन्हें समझाकर बेचना होता था और वैसे में उस बड़ी कंपनी में अच्छे पद पर था, इस कारण से मुझे मेरे कपड़े और अपने को अच्छी तरह रखना था, क्योंकि कभी भी कहीं भी हमें जाना होता था. दोस्तों मुझे एक दिन एक L.I.C के बीमा ऑफिस में जाना था और वहाँ पर मुझे एक लड़की से मिलना था, किन्तु उस वक्त मेरे बहुत व्यस्त होने की वजह से मैंने वहाँ पर अपने साथ काम करने वाले को भेज दिया. फिर वो जब वापस लौटकर शाम को ऑफिस आया तब वो मुझसे कहने लगा कि भाई वाह क्या शानदार लड़की थी वो, मुझे उसको देखकर आनंद आ गया. यहाँ भी देखें >> कोई बहिन का लौड़ा चोद गया चूत में मक्खन छोड़ गया हिन्दी ऑडियो सोंग

सेक्स की भूखी वेश्या लड़की को चोदा XXX Kahani In Hindi

सेक्स की भूखी ब्यूटीफुल वेश्या लड़की को चोदा XXX Kahani In Hindi
सेक्स की भूखी ब्यूटीफुल वेश्या लड़की को चोदा XXX Kahani In Hindi

अब मुझे उसके मुहं से वो बातें सुनकर मन ही मन बड़ा अफ़सोस होने लगा और में सोचने लगा कि में खुद वहां पर क्यों नहीं गया? इसके बाद मैंने उस लड़के से उस लड़की का मोबाइल नंबर ले लिया और उसको फोन किया और उसको पूछा कि आपकी समस्या का समाधान हुआ कि नहीं? तभी उसने कहा कि नहीं हुआ प्लीज आप लोग इस समस्या को जल्द से हल करवा दीजिए, में इसकी वजह से बहुत दिनों से बड़ी परेशान हूँ.  इसके बाद मैंने धीमी आवाज में उसकी समस्या को जल्दी ही खत्म करवाने की बात कही और कुछ देर बाद हम दोनों बड़ी अच्छी तरह से हंस हंसकर बात करने लगे, उसके बाद हम दोनों कुत्ते कमीनो ने बाय कहकर हंसते हुए फोन रख दिए.

अब में तुरंत समझ गया कि हंसी तो फंसी. यह लड़की ज़रूर मुझसे बात करने को तैयार हो सकती है और यह सभी बातें मन ही मन सोचकर में बड़ा प्रसन था. यहाँ भी देखें >> दोस्त की माँ को प्रेग्नेंट करा चुदाई करके हिंदी सेक्स स्टोरी फिर करीब आठ बजे शाम को जब में अपने ऑफिस से अपनी मोटरसाइकिल से अपने घर के लिए निकला, तब उसको मैंने एक मैसेज करके कहा कि अगर तुम चाहती हो कि में तुम्हे मैसेज करूं तो प्लीज तुम मुझे एक दफे मिस कॉल कर दो. फिर में अपनी गाड़ी को चालू करके अपने घर के लिए निकल पड़ा और कुछ दूरी पर जाकर मैंने अपनी गाड़ी को रोक दिया.

अब मैंने मेरी कंचो जैसी मोटी मोटी आँखों से देखा कि मेरे मोबाईल पर उसके मोबाईल नंबर से एक मिस कॉल पड़ा है और इसके बाद मैंने उसी वक्त उसको दो अच्छे मैसेज भेज दिए और उसके बाद में गाड़ी को चालू करके अपने घर के लिए निकल गया. दोस्तों उसी नाईट को जब 12 बजे में सोने के लिए पलंग पर गया तो मुझे कुछ अजीब सा महसूस होने लगा था और इसके बाद मैंने उसको चार पांच मैसेज किए और आखरी मैसेज में मैंने उसको लिखकर भेज दिया कि अगर तुम्हे मेरे मैसेज करना अच्छा लगा तो तुम मुझे एक दफे मिस कॉल कर देना. में समझ जाऊंगा.

अब उसने मेरे नंबर पर एक मिस कॉल किया जिसको देखकर में बहुत प्रसन था और करीब नाईट के दो बजे तक में उसको मैसेज करता रहा और उसके बहुत बार मेरे पास मिस कॉल आते रहे. फिर कुछ समय के बाद में फोन रखकर सोने लगा, नाईट को करीब 2:30 बजे उसके मेरे पास दो बार मिस कॉल आ गए, किन्तु में नहीं समझा. फिर कुछ देर बाद उसका मेरे पास एक मैसेज आया तो उसमे लिखा था कि मुझे आपके सभी मैसेज बहुत अच्छे लगे, प्लीज आप मुझे एक दफे कॉल करे. अब मुझे वो मैसेज पढ़कर बड़ा अजीब लग रहा था कि मेरा एक ग्राहक जिसको में कभी मिला भी नहीं हूँ उसके साथ इस वक्त बात करना कैसा रहेगा?

फिर कुछ समय सोचने के बाद मैंने उसको कॉल किया और अब हम दोनों इधर उधर की बातें करते रहे और करीब चार बजे मोर्निंग तक हम दोनों कुत्ते कमीनो ने बातें की एक दूसरे के बारे में सब कुछ जाना. फिर उसने मुझे बताया कि वो उत्तर प्रदेश की रहने वाली है और अपनी जॉब की वजह से मुंबई में रहती है और वो मुंबई के एक फ्लॅट में तीन लड़कियों के साथ रहती है उसके बाद हमने बात करना बंद करके हम सो गए और मुझे उसके साथ बात करके बड़ा अच्छा लगा. 

अब हम दोनों रोज ही नाईट को 12 से 4 बजे मोर्निंग तक बातें करने लगे, किन्तु हमारे बीच कभी गदराई बातें नहीं हुई. हम ऐसे ही इधर उधर की बातें करते थे और उसको भी मुझसे बातें करना बहुत ही ज्यादा अच्छा लगने लगा था. यहाँ भी देखें >> चूतड़ और गरम चूत की खुजली किरायेदार ने मिटाई Hindi Sex Kahani फिर करीब एक सप्ताह के बाद उसने मुझसे मिलने के लिए अपने घर पर बुलाया, क्योंकि उस दिन मेरा छुट्टी का दिन था, इस कारण से में उसके घर काले कलर की टी-शर्ट और जीन्स में पहुंच गया. फिर उसका घर का पता पूछते पूछते जब मैंने उसके घर के पास वाले मोड़ से उसको कॉल किया. तब तक अंधेरा सा होने लगा था और उसने मुझसे बात करके कहा कि मोड़ की दुकान से कुछ समोसे और कोल्डड्रिंक ले लेना.

  कॉलेज की फ्रेंड को अपने कमरे में चोदा हिंदी संभोग कहानी

अब में वो सब अपने साथ लेकर उसके घर पहुंच गया, तब मैंने मेरी कंचो जैसी मोटी मोटी आँखों से देखा कि वो एक काले कलर की बिना बाहं की टी-शर्ट और काले कलर की केफ्री पहने हुए थी. फिर उसने मुझे अपने कमरे में आने के लिए कहा वो अपनी मधुर मुस्कान से मेरा स्वागत कर रही थी और फिर में प्रसन होकर उसके कमरे में जाकर बैठ गया. फिर जब मैंने उसको पहली बार ध्यान से देखा तो वो गदराई लड़की एकदम कयामत लग रही थी, वो एकदम गोरी बहुत ही सुंदर उसकी छाती पर लटके हुए मिल्की बूब्स का आकार करीब 38-28-38 होगा. अब में उसके ब्रेस्ट को चकित होकर घूर रहा था और जब उसने मुझे ऐसा करते देखा तब वो मेरी तरफ देखकर मुस्कुराने लगी, फिर वो कुछ लिखने लगी और उसने मुझे कहा कि अभी तुम देखो क्या यह ठीक है?  में उठकर उसके पास खड़ा हुआ और वो उस वक्त कुर्सी पर बैठी हुई थी.

मै झुककर नीचे की तरफ देखने लगा जो वो लिख रही थी. दोस्तों क्योंकि उस वक्त उसके टॉप के ऊपर का एक बटन खुला हुआ था, जिसकी वजह से मुझे उसके गोर गोरे गोलमटोल बोबे नजर आ रहे थे. अब में वहीं पर खड़ा रहा और उसको समझाने लगा. दोस्तों मेरी नज़र लगातार उसकी छाती पर लटके मोटे मोटे ब्रेस्ट पर थी, में घूरकर देख रहा था. अब वो भी मेरी निगाहें क्या देख रही है और मेरे मन में क्या चल रहा है, सब कुछ अच्छी तरह से भाँप गयी थी, किन्तु उस सेक्स की भूखी वेश्या लड़की ने मेरा थोड़ा सा भी विरोध नहीं किया. फिर हम दोनों ऐसे ही हँसी आनंदक करते रहे और उसके बाद नाईट के करीब 9 बजे में उसके फ्लेट से अपने घर के लिए निकल गया.

दोस्तों में उसके साथ पहली बार मिलकर और उसके उस गोरे गदराए बदन को देखकर मन ही मन बहुत प्रसन था और उस नाईट को भी हम दोनों कुत्ते कमीनो ने बहुत सारी बातें की और अब में उसके साथ बहुत खुलकर बातें करने लगा था. फिर करीब चार दिन के बाद एक दिन मोर्निंग उसका मेरे पास कॉल आया और वो मुझसे बोलने लगी कि अभी आज में अपने ऑफिस नहीं जाउंगी, प्लीज तुम मेरे फ्लॅट पर आ जाओ ना, में आज तुम्हारे लिए कढ़ी और चावल बनाऊँगी. यहाँ भी देखें >> भौजाई ने देवर का लण्ड पीया छोटे देवर जी ने भौजाई की रसभरी बुर Hindi Sex Story दोस्तों उस वक्त मोर्निंग के दस बज रहे थे और उस वक्त में अपने ऑफिस में था. मैंने प्रारंभ में उसको साफ मना कर दिया और उससे कहा कि यार में छुट्टी के दिन आ जाऊंगा.

अब वो मुझसे जिद करते हुए बहुत बार आने के लिए बोलने लगी. वो बोलने लगी कि नहीं तुम्हे आज ही आना होगा. अब मैंने उसको कहा कि हाँ ठीक है तुम मुझे सबसे पहले अब यह बताओ कि में कितने बजे तक आ जाऊँ? तब उसने कहा कि तुम 12:30 बजे तक पहुंच जाओ. फिर में अपने ऑफिस से झूठा बहाना बनाकर कि आज मेरी तबीयत ठीक नहीं है इस कारण से में अब अपने घर जा रहा हूँ यह बात कहकर में अपने ऑफिस से निकल गया. अब में सीधा उसके फ्लेट के लिए निकल पड़ा और फिर में कुछ देर बाद उसके फ्लॅट पर ठीक 12 बजे ही पहुंच गया. फिर जाकर जब मैंने घंटी बजाई और तब मुझे पता चला कि वो उस वक्त अपने फ्लेट में अकेली थी और उसके साथ रहने वाली दो लड़कियाँ उनके काम पर गयी है.

अब मुझे अपने घर आया देखकर वो बहुत प्रसन हुई और उसने मेरा बड़ी ही गर्मजोशी से स्वागत किया. फिर जब में कुर्सी पर बैठने लगा तब वो मुझसे मुस्कुराते हुए बोलने लगी कि अभी तुम आराम से बैठो ना, प्लीज अपने यह जूते उतारकर पलंग पर बैठो. दोस्तों उसके कमरे में एक ही बेड था. यहाँ भी देखें >> क्लाइंट से चूतड़ मरवानी पड़ी निरोध की कंपनी के चक्कर में Hindi Sex Story फिर जब में पलंग पर बैठा, उसके कुछ देर बाद वो मेरे लिए चाय लेकर आ गई और फिर वो भी उसी पलंग पर बैठ गई. अब मैंने मेरी कंचो जैसी मोटी मोटी आँखों से देखा कि उस वक्त वो नाईट के पकड़ो में ही थी और बड़ी शानदार गदराई लग रही थी. फिर मेरे पास बैठकर चाय पीने के बाद उसने मुझसे कहा कि तुम बैठो में अपनी नहाकर आती हूँ और वो उस कमरे से नहाने के लिए स्नानघर में चली गई.

फिर कुछ देर बाद मैंने उसके पूरे कमरे में इधर उधर नज़र डाली तो देखा कि उसके कमरे में पास ही एक टेबल पर गदराई किताब रखी हुई थी और में उस किताब को उठाकर देखने लगा, उसमे बहुत सारी न्यूड (नग्न) तस्वीरे थी और उसमे बहुत सारी हिंदी सेक्स कहा नियाँ भी थी. दोस्तों शायद उसने वो किताब जानबूझ कर मेरे लिए ही रखकर छोड़ी थी, में उस किताब की कहा नियों को पढ़ता रहा और वो आराम से नहाती रही. फिर करीब चालीस मिनट के बाद वो नहाकर स्नानघर से बाहर निकली और में उसको देखता ही रह गया, क्योंकि वो उस वक्त सिर्फ़ एक टावल को लपेटे हुए ही स्नानघर से बाहर मेरे सामने आ गई थी.

  बेवा माँ ने मेरी अनचुदी फुद्दी के साथ लेस्बीयन संभोग करा हिन्दी संभोग कहानी

फिर उसने टावल में ही मेरे सामने अपने बाल बनाए और फिर उसने काले कलर की जालीदार मेक्सी पहन ली और वो भी बिना पैडेड ब्रा और पेंटी वो मेक्सी पहनकर मेरे पास आकर बैठ गयी और अब वो मुझसे कि कहने लगी में कैसी दिख रही हूँ?  दोस्तों वैसे क्योंकि मैंने तब तक किसी लड़की को चोदा नहीं था, इस कारण से मैंने डर की वजह से अपने सर को नीचे कर लिया और में चुप बैठा रहा. फिर वो तुरंत ही मेरी परेशानी को ठीक तरह से समझ गई और मेरा ध्यान बटाने के लिए वो मुझसे बोलने लगी कि अभी क्या एक दफे फिर से चाय हो जाए? और मैंने तुरंत हाँ कह दिया.

अब वो उठकर चाय बनाने चली गई, जब वो उठी तब उसके शानदार ब्रेस्ट और चूत के बाल मुझे साफ नजर आ रहे थे और थोड़ी ही देर में वो हम दोनों के लिए नमकीन और चाय लेकर पलंग पर आ गयी. फिर जब कुछ देर बाद हम दोनों कुत्ते कमीनो ने चाय को खत्म किया तो उसके बाद वो उस कप को ज़मीन पर रखकर मेरे सामने पलंग पर लेट गयी और अब वो मेरी तरफ देखकर मुस्कुराने लगी. फिर में वहीं बैठकर उसके ब्रेस्ट को लगातार घूरकर देखे जा रहा था और वो गदराई द्रश्य देखकर मेरा फौलादी लण्ड अब बहुत तंग होकर मेरी पेंट को फाड़ रहा था, जिसकी वजह से मुझे अब बड़ा ही अजीब सा महसूस हो रहा था.

फिर उसने अपनी करवट बदली और अब वो पेट के बल लेट गई, जिसकी वजह से अब मुझे उसके शानदार बड़े आकार के एकदम गोल कूल्हे साफ नजर आ रहे थे और वो सब देखकर में अपने आपे से बाहर होने लगा था. फिर उसने आहिस्ता आहिस्ता अपनी उस मेक्सी को अपनी गोरी गदराई हुई जांघो तक ऊपर कर लिया, किन्तु में अब भी वैसे ही बैठा रहा. यहाँ भी देखें >> अनमैरिड नौकरानी के साथ हमबिस्तर XXX हिंदी चुदाई कहानी फिर वो मुझसे बोलने लगी कि प्लीज मेरी गर्दन के पीछे खुजली हो रही है, थोड़ा तुम यहाँ पर अपने हाथ से सहला दो, मुझे आराम मिलेगा. अब मैंने थोड़ा सा डरते हुए उसको कहा कि हाँ ठीक है और फिर में उसकी मेक्सी के ऊपर से उसकी गोरी मखमली गर्दन को दबाने और सहलाने लगा था.

फिर थोड़ी ही देर के बाद उसने मुझसे कहा कि ज़रा सा नीचे हाँ बीच पीठ पर भी सहलाओ ना. अब में अपने हाथ को उसके कहने पर और भी नीचे ले गया और उसके बदन को दबाने और सहलाने लगा. फिर कुछ देर बाद वो मुझसे बोलने लगी यार तुम मेक्सी के भीतर से सहला दो, किन्तु में उसके मुहं से यह बात सुनकर एकदम चकित होकर वैसे ही रुका रहा. अब उस सेक्स करने की भूखी वेश्या लड़की ने जल्दी से अपनी मेक्सी को पीठ तक ऊपर उठा दिया और वो मेरे सामने अब एक तरह से नंगी हो चुकी थी और में उसके कूल्हे और पीठ को सहलाकर शानदार हो रहा था. फिर वो कुछ देर बाद एकदम से अपनी पीठ के बल लेट गई, जिसकी वजह से अब मेरे सामने उसकी वो बड़ी ही शानदार सुंदर गोरी न्यूड (नग्न) बिना बालों की बुर थी, उस चुद्द्कड़ वेश्या की दोनों आँखें उस वक्त बंद थी और में चकित होकर उस सेक्स की भूखी वेश्या की गरम चूत को घूर घूरकर लगातार देखे जा रहा था.

इसके बाद मैंने हिम्मत करके अब उस चुदाई की भूखी वेश्या लड़की की गदराई गरम चूत को सहलाना प्रारम्भ करा और मेरे हाथ बुर को छूते ही वो सिसकियाँ भरने लगी थी. अब में उसकी कामुक बुर को अपने हाथ से लगातार सहला रहा था और में अपने दूसरे हाथ से उसके ब्रेस्ट को दबाने साथ साथ सहला भी रहा था और वो अब मेरे साथ वो मज़े करके अपने मुहं से सिसकियों की वो आवाज निकाल रही थी आह्ह्ह्ह आऊच ऊफ्फ्फ्फ़. फिर में कुछ देर बाद उसकी अनमैरिड चूत में अपनी एक उंगली को डालकर आगे पीछे करने लगा था और वो ज़ोर ज़ोर से सिसकियाँ लेने लगी ऊऊईईईईइ माँ अआह्ह्ह.

अब उसने जोश में आकर मुझे अपने ऊपर खींचकर कसकर पकड़ लिया और वो अब मुझसे बोलने लगी कि अभी में चुदाई की बहुत भूखी हूँ, प्लीज आज तुम मेरा जी भर दो आज तुम मुझे जमकर चोदो आज तुम मुझे चोदकर जी भरकर मेरी प्यास को भुझा दो और उसने मेरी टी-शर्ट और पेंट की बेल्ट को भी खोल दिया और अब मैंने अपनी जींस को नीचे सरका दिया, जिसकी वजह से अब में सिर्फ़ अपनी अंडरवियर में उसके सामने था. फिर वो मेरी चड्डी को भी उतारने लगी और जैसे ही उसने मेरी चड्डी को नीचे करके उतारा और वो देखकर अपने होंठो को दाँत से काटने लगी, क्योंकि मेरा तनकर खड़ा आठ इंच का लण्ड देखकर जो बहुत मोटा भी है उसको देखकर वो शानदार हो गई.

अब वो मेरे लंड को अपने हाथों में लेकर उसको आहिस्ता आहिस्ता सहलाने लगी थी और में उसके ब्रेस्ट के ऊँचे उठे निप्पल को बड़े ही प्यार और मोहब्बत से अपने मुहं में भरकर चूसने लगा था और उस वक्त मेरी एक उंगली उस भूखी वेश्या की गदराई चूत में थी और ब्रेस्ट मेरे मुहं में थे. अब वो मेरे साथ प्रसन होकर यह सब करते हुए मस्ती में बड़बड़ा रही थी वाह अभी ऊउफ़्फ़्फ़्फ़ मुझे बहुत ही ज्यादा अच्छा लगा वाह आनंद आ गया, प्लीज हाँ तुम ऐसे ही मेरे ब्रेस्ट को चूसते रहो, इनका पूरा रस आज तुम निचोड़ दो.

इसके बाद मैंने उसकी वो बातें सुनकर जोश में आकर उसके दोनों ब्रेस्ट को चूसकर दबाकर लाल कर दिए थे और अपनी ऊँगली से उस भूखी वेश्या की गदराई बुर की चुदाई होने की वजह से वो एक दफे झड़ चुकी थी, जिसकी वजह से अब उस भूखी वेश्या की गदराई बुर बहुत गीली एकदम मखमली चिपचिपी हो चुकी थी. अब में उस भूखी वेश्या की गदराई चूत के लाल होंठो के ऊपर अपना मोटा लण्ड रखकर आहिस्ता आहिस्ता रगड़ने लगा था और में उस चुदाई की भूखी वेश्या लड़की की गदराई चूत के दाने को सहलाकर उस सेक्स करने की भूखी वेश्या लड़की की गदराई चूत से खेलने लगा था, जिसकी वजह से वो एकदम मचल गई और मज़े मस्ती से छटपटाने लगी थी और अब वो मुझसे बोलने लगी कि अभी प्लीज अब तुम मुझे ज्यादा मत तरसाओ अब तुम अपने लण्ड को मेरी गुलाबी चूत के भीतर डालकर मुझे चोदना शुरू करो आह्ह्ह्ह ऊउफ़्फ़्फ़्फ़ अब मुझसे थोड़ा सा भी बर्दाश्त नहीं हो रहा है ऊउह्ह्ह्ह प्लीज चोदो अब मुझे प्लीज, अब घुसा दो अपना मोटा लंड, प्लीज में मर जाउंगी, जल्दी करो.

  मुझसे फुद्दी चुदवाने के लिए वेश्या भौजाई ने खुद प्लान बनाया - भौजाई संभोग कहानी इन हिंदी

इसके बाद मैंने उस भूखी वेश्या की गदराई चूत के मुहं पर अपने लण्ड का टोपा रखकर धीरे से धक्का देकर उसको थोड़ा सा भीतर डाल दिया, दोस्तों वैसे तो वो अब तक अनचुदी नहीं थी, किन्तु उस भूखी वेश्या की गदराई बुर बहुत तंग थी और जैसे ही मैंने अपना दूसरा धक्का मारा तो वो दर्द की वजह से ज़ोर से चीख उठी ऊउईईईईइ माँ मर गई प्लीज ज़रा धीरे से करो ऊफ्फ्फ वरना मेरी यह चूत फट जाएगी आह्ह्ह्ह प्लीज धीरे से डालो. इसके बाद मैंने उसके दर्द बातों की तरफ थोड़ा सा भी ध्यान ना देकर अपने तीसरे झटके में उस भूखी वेश्या की गदराई बुर की पूरी गहराईयों में अपने काले मोटे लण्ड को पहुंचा दिया.

फिर उसने उस तेज झटके के बाद दर्द की वजह से मुझे कसकर अपनी बाहों जकड़ लिया और इसके बाद मैंने आहिस्ता आहिस्ता अपने काले मोटे लण्ड को उस भूखी वेश्या की गदराई चूत के भीतर बाहर करना प्रारम्भ करा, जिसकी वजह से अब वो मज़े करने लगी थी. अब वो चुदाई की भूखी वेश्या लड़की मुझसे बोलने लगी मुझे अब तीन लड़के चोद चुके है, किन्तु किसी के लण्ड ने मेरे पूरे जीवन में आज की तारीख तक मेरी प्यासी बुर को इतनी ज्यादा गहराई तक नहीं स्पर्श करा था, तुम्हारा लण्ड तो लंबा मोटा होने के साथ ही बहुत ज्यादा ताकतवर भी है. अब तुम और भी ज़ोर से झटके लगाओ, मुझे आनंद आ रहा है, तुम मेरे दर्द की तरफ थोड़ा सा भी ध्यान मत दो. 

अब में सटासट तेज रफ्तार से उस भूखी वेश्या की गदराई चूत में अपने लण्ड से झटके दिए जा रहा था और उस सेक्स करने की भूखी वेश्या लड़की की गदराई चूत की पूरी गहराईयों में अपने काले मोटे लण्ड को पेलकर भीतर बाहर किए जा रहा था और हर बार वो भी अपने कूल्हों को ऊपर उठाकर मेरा जोश बढ़ाकर मुझे और भी तेज झटके देने के लिए उकसा रही थी. दोस्तों करीब बीस मिनट वैसे ही मज़े करने के बाद मैंने उस सेक्स की भूखी वेश्या लड़की की गदराई चूत में अपने लण्ड के उस ज्वालामुखी के लावे को वीर्य के रूप में छोड़ दिया और उसके बाद में उसको चिपककर लेट गया.

अब उसने मेरे कान में मुझसे कहा कि तुम आज मुझे वास्तविक दमदार मर्द मिले, वरना चुदाई करने वाले तो मुझे इससे पहले भी बहुत मिले, किन्तु उनके लण्ड में उतना दम कहा ँ था, जो तुम्हारे इस लण्ड में है. यहाँ भी देखें >> नौकरानी लड़की की अनचुदी बुर चोद चोदकर फाड़ डाली गन्दी हिन्दी 18+ XXX फ्री अश्लील XXX सेक्स कहानी हिंदी में आज तुमने मुझे चुदाई का वास्तविक सुख वो आनंद दिया है, जिसके लिए में कब से तरस रही थी जानू में तुमसे बहुत प्यार करती हूँ. फिर कुछ देर बाद हम दोनों उठे हम दोनों कुत्ते कमीनो ने साथ में बैठकर खाना खाया और फिर वैसे ही हम पूरे नंगे ही लेटकर चिपककर बातें करने लगे.

फिर उसने कुछ देर बाद एक दफे फिर से मेरे शानदार पेनिस को चूसकर खड़ा किया और फिर से दोबारा मैंने उसकी पहले से भी ज्यादा जमकर चुदाई के मज़े लिए, जिसमें उसने भी मेरा पूरा पूरा साथ दिया, जिसकी वजह से हम दोनों बहुत प्रसन थे.  दोस्तों उस दिन शाम के सात बजे तक मैंने उसको पांच बार जमकर चुदाई करके उस सेक्स की भूखी वेश्या लड़की को पूरी तरह से पस्त कर दिया था. फिर उसने मेरी चुदाई की वजह से प्रसन होकर मुझसे कहा कि इससे पहले जब कभी भी मैंने जिस किसी से अपनी बुर को चुदवाया उन सभी ने मुझे आधे पर छोड़ दिया था, किन्तु आज तुमने मुझे पूरी तरह से संतुष्ट करने के साथ ही पूरी तरह से अधमरा कर दिया, तुम बहुत अच्छे हो. दोस्तों उसके बाद में उस भूखी रंडी को बाय कहकर अपने घर वापस चला आया और फिर वो कई महीनो तक मुझसे अपनी बुर को हर कभी चुदवाती रही.

तो मेरे प्यारे भाई और बहनों हम www.xxxvale.com फैमिली के सदस्य उम्मीद करते हैं की आप को हिंदी फ्री अश्लील XXX सेक्स कहानी हिंदी में “सेक्स की भूखी ब्यूटीफुल वेश्या लड़की को चोदा XXX Kahani In Hindi” बहुत पसंद आई होती इस हिंदी फ्री अश्लील XXX सेक्स कहानी हिंदी में को अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करना. इन इंडियन सेक्स स्टोरीज के अलावा यदि आप इंडियन देसी पोर्न विडियो देखना चाहते है या फिर न्यूड (नग्न) नंगी फोटो देखना चाहते है तो www.indiansexbazar.com वेबसाइट ज़रूर देखें…

ऑडियो सेक्स स्टोरी लड़की की आवाज में – Free Hindi Audio Sex Story