XXX Vale – Hindi XXX Stories For Adults

18+ Sexually Explicit Contents

संभोग करा मौसी की वर्जिन लड़की के साथ XXX Kahani In Hindi

सेक्स करा मौसी की अनचुदी लड़की के साथ XXX Kahani In Hindi : मेरी साली पक्की छिनाल माँ बहुत बड़ी काम चोर महिला है उससे घर का कोई भी काम नहीं होता इस लिए मेरी साली पक्की छिनाल माँ मेरी मौसी की अनचुदी लड़की मेरी मौसी की अनचुदी लड़की को गावं से लेकर आई थी अपने घर के काम में सहायता करवाने के लिये पहले तो वो लड़की दिखने में बहुत सुंदर और गदराई थी. यहाँ भी देखें >> सुन्दर मामी की चूत को जंगल में लेजाकर चोदा Free XXX Hindi Nonveg Sex Story For Adults 18+ Hindi Chudai Kahani शुरू मे तो मैने उस पर ज्यादा ध्यान नही दिया किन्तु 2 महीने बाद मेरा ध्यान उस पर गया किन्तु फिर भी मेरे मन मे उसके लिए कोई गन्दी फीलिंग्स नहीं आई थी पर एक दिन मैं और मेरी मौसी की अनचुदी लड़की जब शाम को फोर व्हीलर गाड़ी से घूमने निकले तब एक ऐसा कुछ हो गया जिससे में और मेरी मौसी की अनचुदी लड़की सेक्स करने के लिए एक दूसरे की तरफ आकर्षित हो गये.

हुआ ये की पीछे की सीट पर लेफ्ट विंडो पर मेरे पापा फिर में और माँ और राइट विंडो पर मेरी मौसी की अनचुदी लड़की बैठी थी फोर व्हीलर गाड़ी मेरे ताऊजी ड्राइव कर रहे थे और उनके बगल मे दूसरा ताऊजी और मेरा भाई बैठा था तो में इस तरह से बैठा था की मेरा राइट हैण्ड सीट के उपर से जाकर मेरी मौसी की अनचुदी लड़की के सिर के पीछे रखा हुआ था मेरी उंगलियां उसके कान के पीछे टच हो रही थी और ये जगह लड़कियों को गर्म करने के लिये बहुत ही अच्छी है तो पहले तो मैने ध्यान नही दिया.

सेक्स करा मौसी की अनचुदी लड़की के साथ XXX Kahani In Hindi

सेक्स करा मौसी की अनचुदी लड़की के साथ XXX Kahani In Hindi
सेक्स करा मौसी की अनचुदी लड़की के साथ XXX Kahani In Hindi

फिर जब मुझे एहसास हुआ की मेरा हाथ उसके कान के पीछे टच हो रहा है तो मैने सोचा की ये तो बहुत देर से ऐसे ही रखा हुआ है तो इसने (मेरी मौसी की अनचुदी लड़की) कुछ किया क्यों नही जैसे सिर आगे की तरफ करना या साइड मे होना तो अब मेरा ध्यान केवल मेरी मौसी की अनचुदी लड़की पर था की वो क्या कर रही है मैने देखा की वो जानबुझ कर मेरे हाथ से अपना सिर नही हटा रही थी तब मैने सोचा की क्यों ना इसको गर्म किया जाये तो मैने बहुत हिम्मत करके हल्के से अपनी उंगलियों से उसके कान के जस्ट पीछे सहलाया इससे वो और रिलेक्स हो कर पीछे सीट पर सहारा लगा कर मेरी उंगलियों पर अपने सिर का बल दे कर बैठ गयी. यहाँ भी देखें >> दीपिका पादुकोण की बदबूदार चूतड़ मे फंसा मोटा लण्ड Free XXX Hindi Nonveg Sex Story For Adults 18+ Hindi Chudai Kahani

इससे मुझे यकीन हो गया की ये आनंद ले रही है जिससे मेरी भी हिम्मत बड़ गयी और में उसे हिला हिलाकर और सहला सहला कर गर्म करने लगा अब में उसके कान के पीछे के पूरे हिस्से पर गर्दन पर और गाल पर दबाने और सहलाने लगा अब क्योकी ये सब पीछे की साइड हो रहा था और बहुत धीरे हो रहा था तो किसी को कुछ पता भी नही था में उसे कभी गर्दन पर सहलाता कभी कान के नीचे सहलाता इस तरह से हम दो नो ही बहुत ज़्यादा ही गर्म हो चुके थे ये मैं 1 घंटे से भी ज्यादा वक्त तक ये सब करता रहा और फिर हम डिनर करके नाईट मे 11.30 बजे पर घर वापस आ गये और फिर सोने की तैयारी करने लगे मैं मेरी साली पक्की छिनाल माँ और मेरी मौसी की अनचुदी लड़की एक ही कमरे मे सोते थे हम डबल पलंग पर सोते थे और मेरे और मेरी मौसी की अनचुदी लड़की के बीच मे माँ सोती थी किन्तु अभी तक मेरी और मेरी मौसी की अनचुदी लड़की की कोई बात नही हुई थी.

हम केवल एक दूसरे को देख ही रहे थे और मुस्कुरा रहे थे इससे में समझ गया की यार आज तो कुछ हो सकता है हम सब लेट गये और में सब के सोने का इंतज़ार करने लगा नाईट मे करीब 2 बजे मैने माँ को हिला के चेक किया की माँ सोई की नही तो माँ उस वक्त गहरी नींद मे थी तब में धीरे से उठा और मेरी मौसी की अनचुदी लड़की के पास गया तो देखा की वो सीधी लेट के सो रही है तो मैने फिर से उसके कान के पीछे सहलाना शुरू करना ही बेहतर समझा मैने उसके कान के पीछे से उसके बाल हटा कर धीरे से सहलाना प्रारम्भ करा तो उसने कोई हलचल नही की मुझे लगा की वो सो रही है पहले तो मैने हाथ से सहलाया और फिर मेंने जबान से स्पर्श करा मेरे टच करते ही उसे एक करंट लगा और वो हल्की सी हिली में समझ गया की वो जाग रही है.

यहाँ बेखें >> छोटे भाई की चूतड़ मारने का सौभाग्य प्राप्त हुआ हिन्दी पोर्न विडियो फिर में अपनी जुबान और लिप्स से कभी उसके कान के पीछे तो कभी गर्दन पर और गालो पर जबान से सहलाता जिससे उसकी धड़कन और सांसे बडती जा रही थी जो की मुझे फील हो रही थी फिर मैने उसके लिप्स पर अपने होठ रख दिये जिससे वो हिल गयी और उसकी आँखें खुल गयी और मेरी आँखों से मिल गयी उसे किस करना आता नही था तो में जैसे–जैसे करता वो भी वैसा ही करती में अपनी जुबान उसके मुँह के भीतर डालता और उसकी जुबान को टच करता और उसके लिप्स को अपने दातों से काटता फिर में धीरे-धीरे अपना हाथ उसकी चूची पर ले गया और उसे दबाने लगा उसकी चूचियां ज़्यादा तो नही किन्तु हाँ मतलब भर की थी जो मेरे हाथ मे आ रही थी और अब में उसे आहिस्ता आहिस्ता दबाता और उसे फ्रेंच किस भी करता जाता.

  दीपावली की रात सगी बहिना को पेलने का अवसर मिल गया Hindi Chudai Ki Kahani

अब में धीरे से उसके उपर लेट गया और मेरा तना हुआ 6 इंच का लंड उसकी गरम चूत के उपर आ गया जो उसे फील हो रहा था अब उसके मुँह से सीसी की आवाज़ आने लगी किन्तु में उसे किस कर रहा था तो उससे आवाज़ नहीं आ रही थी अब उसने मुझे अपनी बाहों मे जकड़ लिया और मेरी पीठ पर और सिर पर हाथ फेरने लगी इसका मतलब था की अब उसको भी मस्ती चड़ने लगी थी उसने चेन वाला टॉप पहन रखा था जो नीचे तक खुलता था और उसने टॉप के नीचे कुछ भी नही पहन रखा था शायद जानबुझ कर तो मैने उसकी चेन खोल दी और उसकी चूची को हल्के से उजाले मे देखने का आनंद ही कुछ अलग था उसका निपल भी एकदम हार्ड और 1 सेंटीमीटर का हो चुका था चूची देखते ही मैने उसे चाटना शुरू कर दिया उसका निपल चूसने लगा जिससे उसका निपल और बड़ गया और उसकी पकड़ और तंग हो गयी.

अब में उसे कभी उसकी चूची चाटता तो कभी निपल पर जुबान फेरता इससे उसकी आवाज़ बडती जा रही थी तो मैने अपने एक हाथ से उसका मुँह बंद किया अब वो भी इतने जोश मे आ गयी की उसने मेरा मजबूत लौड़ा पकड़ लिया मेरी शॉर्ट्स मे हाथ घुसेड़ कर उसे हिलाने लगी हम इस वक्त पूरे जोश मे थे की एकदम माँ ने अंगड़ाई ली इससे हम दोनो की तो चूतड़ ही फट गयी और हम जल्दी से अलग हुये और में अपनी जगह पर लेट गया अभी लेटे हुये 5 मिनिट ही हुये होंगे की माँ उठी और स्नानघर चली गयी हमने एक दूसरे की तरफ देखा और मैने धीरे से कहा की बच गये वरना आज तो गये थे और फिर हमें कब नींद आ गयी हमें पता ही नही चला.

सुबह जब में उठा तो 9.30 बज रहे थे और सभी लोग कहीं जाने के लिये तैयार हो रहे थे तो मैने माँ से पूछा की आप लोग कहा जा रहे हो तो उन्होने कहा की हम ताऊजी जी के यहाँ जा रहे है उनके यहा कथा है और मुझसे कहा की तुम मेरी मौसी की अनचुदी लड़की को बाइक से ले आना इस पर में मन ही मन प्रसन हो गया की चलो अब मुझे कुछ देर अकेले मे मेरी मौसी की अनचुदी लड़की के साथ टाइम बिताने का मौका मिलेगा तो मैने पूछा की मेरी मौसी की अनचुदी लड़की है कहा ँ. तो माँ ने कहा की वो नहा रही है और फिर माँ पापा चले गये और ताऊजी लोग भी ऑफीस जा चुके थे फिर में जल्दी से फ्रेश होने चला गया ताकि हमें टाइम ज़्यादा मिल सके हमारे घर मे 2 फ्लोर है तो मेरी मौसी की अनचुदी लड़की नीचे के स्नानघर मे नहा रही थी और में उपर के स्नानघर मे चला गया में तो जल्दी ही निकल आया था.

तब तक मेरी मौसी की अनचुदी लड़की भी निकल आई थी उसने यलो और वाइट मिक्स कलर का सूट पहना हुआ था और आज उसने बाल भी धोये थे गीले बालों मे और उस सूट मे वो और भी ब्यूटीफुल लग रही थी में गया और जल्दी से उसे पीछे से पकड़ लिया तो वो पहले तो डर गयी फिर जब उसने मुझे देखा तो मुस्कुरा दी मैने उससे कहा की आज तुम बहुत ही ब्यूटीफुल लग रही हो और फ्रेंड्स आप जानते ही है की लेडीस की कमज़ोरी उनकी ब्यूटी की तारीफ होती है तो वो मुस्कुराई और कहा की सच मे तो मैने कहा हाँ सच्ची मे और फिर में अपने होठ उसके कान के पीछे गर्दन पर फेरने लगा और चूमने लगा जिससे उसकी आँखें बंद होने लगी और धड़कने बडने लगी और फिर मैने अपना हाथ धीरे से उसकी चूची पर रखा और धीरे-धीरे दबाने लगा उसकी चूची थोड़ी हार्ड थी और निपल भी अब खड़ा होने लगा था.

फिर मैने उसको अपनी तरफ घुमाया तो उसकी नज़रे नीचे की ओर थी उसके होठ बिल्कुल लाल कलर के थे मैने धीरे से उन पर अपने होठ रखे तो उसने भी मुझे रेस्पोन्स दिया और वो मेरे होठ चूसने लगी में उसका नीचे का होठ चूस रहा था और वो मेरा उपर का होठ चूस रही थी क्या बताऊँ फेंड्स क्या आनंद आ रहा था में कभी उसके होठ चूसता तो कभी उसकी जबान इतना आनंद मुझे जिंदगी मे कभी नही आया था करीब 15 मिनिट तक किस करने के बाद मैने उसको उठाया और पलंग पर लिटा दिया और फिर उसे क़िस करने लगा और फिर किस करते हुये मैने उसका कुर्ता उतारा वाउ क्या चूचीयां थी उसकी दिन के उजाले मे मैने पैडेड ब्रा के भीतर बूब्स पहली बार देखे और फिर मैने उसकी पैडेड ब्रा भी उतार दी उसका पिंक कलर का 1.5 सेंटीमीटर का निपल खड़ा हुआ निपल देखकर तो में पागल हो गया और मुँह मे लेकर उसे चूसने लगा.

  पति गे था नौकर के लिंग से अनचुदी फुद्दी की चुदाई करवाई Hindi Chudai Ki Kahani

इससे वो भी जोश मे आ गयी और आहह आहह की आवाज़ें निकालने लगी अब हमे किसी का डर नही था चाहे हम कितनी भी आवाज़ें निकाले क्योकी घर पर तो कोई था नही अब में उठा और उसका सलवार का नाडा खोला और उसे उतार दिया वाउ क्या जांघे थी उसकी एकदम गोरी मखमली भरी हुई में तो उसकी जांघे ही चाटने लगा इससे वो और भी गर्म हो गयी और मेरा सिर कस के पकड़ लिया में धीरे-धीरे जांघो से किस करता हुआ उसकी चुत तक पहुँचा उसकी चुत की महक इतनी नशीली थी की क्या कहना मैने जैसे ही अपनी नाक उसकी चुत पर टच की तो उसके मुँह से ज़ोर से आअहह की आवाज़ निकल पड़ी.

उसकी पेंटी पूरी गीली हो चुकी थी मैने अपनी जबान निकाली और उसकी चुत रस को चाटने लगा पेंटी के उपर से इससे वो आउट ऑफ कंट्रोल हो गयी और बोलने लगी की रवि प्लीज सताओ नही बस अब डाल दो अपना लण्ड मेरी प्यासी फुद्दी में. फिर मैने कहा की इतनी जल्दी कहा ँ अभी तो सेक्स की शुरुआत है उसने कहा की हमें पूजा मे भी जाना है सेक्स करने के लिए टाइम कम है हमारे पास तो मैने कहा की वो बाद मे देखा जायेगा और में फिर से शुरू हो गया और फिर मैने उसकी महामारी से संदी पेंटी भी निकाल दी वाउ क्या चूत थी उसकी एकदम गोरी और लिप्स के भीतर लाल और हल्की-हल्की झांटे वाउ पहली बार मैने अपनी लाइफ मे बुर देखी थी मैं तो पागल ही हो गया और जल्दी से उसे मुँह मे ले लिया और चूसने लगा.

बुर चूसने से मेरी मौसी की अनचुदी लड़की के मुँह से ज़ोर से आहह की आवाज़ आई और फिर वो लगातार तेज तेज आवाज़ें निकालती ही रही और साथ मे कहती भी रहती की चूसो और चूसो मेरी प्यासी बुर को उसका बुर रस का तो उत्तर ही नही था में अपनी जुबान से उसकी चुत को कभी नीचे से उपर और कभी भीतर तक चाटता और वो भी मेरे सिर को पकड़ कर अपनी चुत पर दबाती और कमर उठा-उठा कर मेरा साथ देती. अब वो पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी और मेरे लण्ड का तो हाल ही बुरा था अंडरवेयर मे वो तन कर एकदम अकड़ चुका था मेरी अंडरवेयर भी मेरे स्पर्म से गीली हो चुकी थी और मेरा फौलादी लण्ड मेरे स्पर्म से गीला हो चुका था.

फिर मैने अब उसे अपनी जबान से चाटना प्रारम्भ करा में अपनी जुबान निकालकर उसे चोद रहा था इससे वो अपनी कमर उठा उठा कर चुदवाने लगी और बोलने लगी की बस अब नही रुका जाता अब प्लीज चोद दो मुझे और फिर मै खड़ा हुआ और मैने उसे इशारे से कहा की तुम मेरी अंडरवेयर उतारो तो उसने जल्दी से मेरी अंडरवेयर उतार दी और मेरा 6 इंच का लण्ड बाहर निकल आया जिसे उसने जल्दी से पकड़ लिया और बोलने लगी की आज मैने पहली बार लण्ड देखा है इतना बड़ा लण्ड मेरे भीतर कैसे जायेगा तो मैने कहा की कुछ नही होगा. फिर मैने उसे लेटाया और एक तकिया उसकी क्मर के नीचे लगाया और मैने थोड़ा उसका बुर रस लिया और अपने स्पर्म के साथ मिला कर उसे लण्ड के उपरी हिस्से पर 3 इंच तक लगाया ताकि लण्ड आसानी से बुर मे जा सके.

फिरमैने अपना मुसल जैसा लंड जैसे ही उसकी चुत पर रखा उसके मुँह से हह्ह्ह्ह की आवाज़ निकल आई मैने धीरे से अपना लण्ड आगे की तरफ किया तो उसको थोड़ा सा दर्द हुआ मैने पूछा की दर्द हो रहा है तो उसने कहा की हाँ किन्तु थोड़ा सा तो मैने फिर से जोर लगाया किन्तु थोड़ा तेज़ तो मेरा इस बार लण्ड का टोपा भीतर चला गया तब उसे दर्द हुआ और उसकी आहह की आवाज़ निकली तो मैने कहा की बस थोड़ा सा और फिर मैने एक तेज़शॉट मारा इससे उसकी भयँकर खतरनाक असहनीय दर्द से भरी चीख निकली तो मैं रुक गया और उसे किस करने लगा और उसकी चूची दबाने लगा. 2 मिनिट तक ऐसा करने के बाद वो रिलेक्स हुई तोमैने अपना मुसल जैसा लंड हिलाना प्रारम्भ करा.

मेरा अभी तक 3 इंच ही लण्ड गया था मेरे ऐसा करने से उसे भी आनंद आने लगा मेरा 3 इंच ही लण्ड गया था किन्तु उसकी चुत ने लण्ड को एकदम जकड़ रखा था इतना आनंद आ रहा था की क्या बताऊँ जब उसे आनंद आने लगा तो मैने एक और ज़ोर काशॉट मारा और इस बार पूरा लण्ड भीतर चला गया और फिर मुझे कुछ गर्म सा महसूस हुआ मुझे लग गया की इसकी सील फट गयी है और ब्लड निकल रहा है मैनेशॉट मारने से पहले उसके मुँह पर हाथ रख दिया था जिससे उसकी चीख की आवाज़ दब गयी किन्तु उसकी आँखों से आँसू गिरने लगे तो मैने अपना हाथ हटा दिया तो वो बोलने लगी की प्लीज इसे निकालो बहुत तेज दर्द हो रहा है तो मैने उससे कहा की आज पहली खतरनाक और धमाकेदार चुदाई है इस लिए कुछ समय तो दर्द होगा फिर आनंद आयेगा और फिर मै उसे किस करने लगा और उसकी चूची चूसने लगा.

  फ्रेंड की बहिन की दोनों टांगों को चौड़ा कर अनचुदी फुद्दी में लण्ड पेला XXX Kahani

इससे उसे आराम मिला और 2 मिनिट के बाद मैने लण्ड को हिलाया किन्तु मेरा फौलादी लण्ड बहुत ही कठिनाई से हिल पा रहा था क्योकी उसकी चुत ने लण्ड को पूरा जकड़ रखा था उसकी गरम चूत के भीतर एक भट्टी जितना गर्म था फिर मैने आहिस्ता आहिस्ता लण्ड हिलाना प्रारम्भ करा इससे उसको भी आनंद आने लगा और फिर जब लण्ड आसानी से भीतर बाहर होने लगा तो हम दोनो को इतना आनंद आने लगा की जैसे हमको स्वर्ग मिल गया हो जब लण्ड भीतर बाहर होता तो छप छप की आवाज़ होती में उसकी चुत मारते वक्त कभी उसके लिप्स को चूसता तो कभी ब्रेस्ट चूसता मेरा फौलादी लण्ड सटासट भीतर बाहर हो रहा था और हम दोनो ही आहह की आवाज़ें निकल रही थी वो भी मेरा कमर उठा उठा कर साथ दे रही थी.

मेरी मौसी की सेक्स लड़की ने अपनी दोनो टाँगों से मेरी कमर पकड़ ली और कह रही थी की मुझे चोदो और चोदो आहह अहह और भीतर तक डालो अब मेरा फौलादी लण्ड आसानी से भीतर बाहर हो रहा था छप-छप की आवाज़ से पूरा कमरा गूँज रहा था फिर हम दोनो ही क्लाइमेंक्स पर पहुँच गये उसने कहा की मुझे कुछ हो रहा है जैसे कुछ छूटने वाला है भीतर से तो मैने कहा हाँ मुझे भी कुछ ऐसा ही लग रहा है अब मेरी बुर की चुदाई करने की स्पीड और भी बड़ गयी में जब लण्ड उसकी ब्लड से संदी चूत के भीतर डालता तो वो भी कमर उपर उठाती जिससे लण्ड पूरा भीतर तक उसकी बच्चेदानी तक जा रहा था.

फिर उसकी आवाज़ आई की मैं झड़ने वाली हूँ भाई और वो आहह की आवाज़ के साथ झड़ गयी और फिर कुछ सेकेंड के बाद में भी झड़ गया और मेरे मुँह से भी एक ज़ोर की आहह निकली और फिर में उसके उपर गिर पड़ा. हम दोनो ही बहुत थक चुके थे और फिर हमें पता चला की हमें ताऊजी जी के यहा जाना है तो हम फिर हम दोनों भाई बहिन स्नानघर मे गये और फिर दोनो ही नंगे होकर एक साथ नहाये और फिर हमने अनार का जूस पिया ताकि हम में ताक़त आ सके वहाँ जाने की और फिर हम तैयार होकर निकल पड़े.. तो मेरे प्यारे भाई और बहनों ये थी मेरी अपनी आपबीती.

तो मेरे प्यारे भाई और बहनों हम www.xxxvale.com फैमिली के सदस्य उम्मीद करते हैं की आप को हिंदी फ्री अश्लील XXX सेक्स कहानी हिंदी में “सेक्स करा मौसी की अनचुदी लड़की के साथ XXX Kahani In Hindi” बहुत पसंद आई होती इस हिंदी फ्री अश्लील XXX सेक्स कहानी हिंदी में को अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करना. इन इंडियन सेक्स स्टोरीज के अलावा यदि आप इंडियन देसी पोर्न विडियो देखना चाहते है या फिर न्यूड (नग्न) नंगी फोटो देखना चाहते है तो www.indiansexbazar.com वेबसाइट ज़रूर देखें…

ऑडियो सेक्स स्टोरी लड़की की आवाज में – Free Hindi Audio Sex Story