XXX Vale – Hindi XXX Stories For Adults

18+ Sexually Explicit Contents

ससुराल में 18 साल की वर्जिन साली की पहली चुदाई Hindi Sex Story

ससुराल में 18 साल की अनमैरिड साली की अनचुदी बुर की पहली खतरनाक और धमाकेदार चुदाई Indian XXX Hindi Sex Story : मैं 28 वर्ष का सुहागन नौजवान यूवक हूँ. मेरी लुल्ली का साइज 9 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है. मेरा इतना शानदार लण्ड है कि एक दफे जिसकी महिला की प्यासी बुर को चोद दिया तो वो दोबारा चुदवाने को बेताब हो जाती है और चुदवाने के लिए केवल मेरा ही लण्ड मांगती है. मैंने मेरे पूरे जीवन में आज की तारीख तक बहुत सी चूतों को चोदा है. यहाँ भी देखें>> नपुंसक पति के चक्कर में भाई के बच्चे की माँ बन बैठी Hindi Free XXX Hindi Nonveg Sex Story For Adults 18+ Hindi Chudai Kahani विद्यालय वक्त से ही मुझे बुर चोदने की लत लग गई थी. यह मेरे जीवन की सत्य कहानी है, मेरे ससुर दो भाई हैं.

मेरा ससुराल मध्य प्रदेश में है. मेरे ससुर जी और उनके भाई भाई एक साथ ही एक घर में रहते हैं. मेरे ताऊजी ससुर की अनमैरिड बेटी उस वक्त 18 साल की थी और कॉलेज में पढाई कर रही थी. उस साली का कोई बॉयफ्रेंड नहीं था जिस वजह से उसकी चुत एक दम सील बंद थी वह बिलकुल अनचुदी थी. उसे चुदाई के बारे में सब कुछ पता था मगर उसने कभी सेक्स नहीं करा था. उस साली गदराई माल के ब्रेस्ट बहुत मस्त थे. उसका साइज 28-30-32 का रहा होगा और कद 5 फिट 3 इंच, कलर गोरा है. मेरी अनमैरिड साली साहिबा बहुत ही गदराई मिजाज की प्यासी लडकियाँ थी.

ससुराल में 18 साल की अनचुदी साली की पहली खतरनाक और धमाकेदार चुदाई Hindi Sex Story

ससुराल में 18 साल की अनचुदी साली की पहली खतरनाक और धमाकेदार चुदाई Hindi Sex Story
ससुराल में 18 साल की अनचुदी साली की पहली खतरनाक और धमाकेदार चुदाई Hindi Sex Story

मेरी अनमैरिड साली इतनी गदराई थी कि उसको देख कर बूढ़े का भी लण्ड खड़ा हो जाए. मैं जब कभी भी ससुराल जाता तो मेरी अनमैरिड साली साहिबा बहुत मुझसे आनंदक करती थी. मैं भी उसको गले लगाने के बहाने खूब चूचियों से अपना सीना रगड़ देता. उसकी कसमसाहट भी मुझे हरी झंडी सी लगती थी. आहिस्ता आहिस्ता उसको मैं ओयो होटल में ले जाने लगा और कॉलेज मिस करके घुमाने ले जाता. मेरी अनमैरिड साली साहिबा 18 साल की गदराई लड़की मुझसे काफी प्रभावित थी. मैंने उसको एक मोबाइल फोन लेकर दिया, जिसको मेरी अनमैरिड साली साहिबा छुपा कर अपनी पेंटी के भीतर रखती थी.

जब मैं ड्यूटी पर होता तो देर नाईट तक उससे फोन पर गन्दी गन्दी अश्लील चैट करता था. एक दिन शाम के वक्त सुहागन पत्नी को लेकर ससुराल गया था. खाने पीने के बाद मैंने उसको कहा कि आज हमारे साथ हमारे ही सो जाना. मेरी अनमैरिड साली साहिबा एकदम से तैयार हो गई. यहाँ भी देखें>> चुदवाने के बदले पैसे मिलने लगे अधूरे ख्वाब पुरे होने लगे अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी नाईट को मैं मेरी वाइफ और मेरी ब्यूटीफुल साली एक रूम में सोए. बीच में मेरी वाइफ सो रही थी. जब मेरी सुहागन पत्नी को नींद आ गई तो मैंने धीरे से मेरी ब्यूटीफुल साली के चूचों पर हाथ रखकर हल्के हल्के दबाने लगा. उसको भी आनंद आने लगा और मेरी अनमैरिड साली साहिबा आहिस्ता आहिस्ता हॉट होने लगी.

  मुझ बेवा औरत को पुत्र के लण्ड ने चोदकर शांति प्रदान करी नॉनवेज सेक्स स्टोरी

मेरे हाथ ऊपर से नीचे आने लगे. जैसे ही मैंने उसकी चुत पर हाथ लगाया तो मेरी अनमैरिड साली साहिबा चिहुँक उठी और मेरा हाथ पकड़ कर दूर करके फुसफुसा कर बोली- दीदी जग जाएगी जीजाजी. मैंने उसकी दीदी के ऊपर से होकर उसके लाल गुलाबी लिप्स पर चुम्मी करी, जिसमें उसने खुल कर साथ दिया. किन्तु तभी बीच में मेरी वाइफ जाग गई, जिससे हम जीजा साली की गन्दी हरकतें बंद हो गई. देर नाईट को फिर हम दोनों जीजा साली भी सो गए.

अगले दिन जब कभी भी हम दोनों जीजा साली को मौका मिला, हमने खूब गले लग कर चूमाचाटी की. मैंने उससे नाईट में पूरा गेम खेलने की बात कही तो उसने कहा – दीदी तो हैं. मैंने कहा कि मेरी अनमैरिड साली साहिबा मेरी टेंशन है, तुम बस आज मेरे लौड़े की सवारी करने के लिए तैयार रहना. मेरी अनमैरिड साली साहिबा हंस दी. मैं मेडिकल स्टोर से नींद की गोली ले आया और शाम को मौसमी के जूस में घुसेड़ कर सबको पिला दिया. नाईट को सोते वक्त मेरी वाइफ कहने लगी कि सिर दर्द कर रहा है तो मैंने उसको एक और नींद की गोली देकर सुला दिला.

आज भी मेरी ब्यूटीफुल साली हमारे पास ही सो रही थी. मैं उन दोनों के बीच में सो गया. जल्दी ही सुहागन पत्नी को नींद आ गई. उसके बाद मैंने आहिस्ता आहिस्ता मेरी ब्यूटीफुल साली को सहलाना शुरू कर दिया. काफी देर तक लिप किस किया और चूचों को दबाया, तो मेरी अनमैरिड साली साहिबा आह आह करने लगी. हम दोनों नीचे फर्श पर आ गए और अपनी रासलीला शुरू कर दी. मैंने उसकी कमीज ओर पैडेड ब्रा को निकाल दिया, जिससे उसके चुचे उछल कर बाहर आ गए. मैं तो उसके मोटे मोटे चुचे देखकर पागल हो गया और उन्हें मुँह में लेकर चूसने लगा.

कसम से साली के मोटे मोटे ब्रेस्ट चूसने में बहुत आनंद आ रहा था. मै मेरी गदराई साली के एक ब्रेस्ट को मुह में भरकर चूस रहा था और दूसरे ब्रेस्ट को हाथ से मसल रहा था. मैंने बारी बारी से मेरी अनमैरिड साली के दोनों मोटे मोटे चूचों को खूब चूसा. मेरी ब्यूटीफुल साली भी खूब हॉट होकर आहें भरने लगी थी. तभी मैंने उसकी सलवार खोल दी. उसी जाँघें बड़ी ही मखमली थीं. चुत पर हाथ लगाया तो पूरी गीली हो रही थी, जिससे उसकी पैंटी भी गीली हो रही थी. आहिस्ता आहिस्ता मैंने उसके शरीर पर हाथ घुमाना प्रारम्भ करा.

मेरी अनमैरिड साली की अनचुदी चूत में उंगली घुसेड़ कर हल्के हल्के सहलाया, जिससे मेरी अनमैरिड साली साहिबा और भी हॉट होने लगी. इसके बाद मैंने आहिस्ता आहिस्ता अपनी जबान को उसके चूचों पर से फिराता हुआ टुंडी और अनचुदी बुर की तरफ बढ़ना प्रारम्भ करा. यहाँ भी देखें>> भांग वाली ठंडाई पिलाकर भौजाई को चोदा अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी जैसे ही जबान को चूत के दाने पर लगाया, तो मेरी अनमैरिड साली साहिबा बुरी तरह मचलने लगी और मेरे सिर को चुत पर दबाने की प्रयास करने लगी.

  सेक्स का चस्का पार्ट 7 - प्रेग्नेंट भौजाई ने अनचुदी चुत का बंदोबस्त करा Sex Story

मैंने मेरी अनमैरिड साली की अनचुदी भोसड़ी को मुँह में भर लिया और हुमक हुमक कर बुर चूसने लगा. मेरी ब्यूटीफुल साली टांगें खोल कर बुरी तरह से आहें भरने लगी. मैंने उसकी चुत को लगभग पूरा अपने मुँह में भर कर चूसा तो उसका रस छूट गया. इसके बाद मेरी अनमैरिड साली साहिबा ढीली पड़ गई. किन्तु पाँच मिनट बाद ही उसने झटपट मेरे सारे कपड़े उतार फेंके तथा मुझे नंगा कर दिया. मेरी अनमैरिड साली साहिबा मेरे हब्शी लण्ड को देखकर घबरा गई और बोली- जीजाजी, इतना बड़ा मेरी प्यासी फुद्दी में कैसे जाएगा.. मैं तो मर जाऊंगी.

मैं मेरी कच्ची कली जैसी जवान साली से बोला- मेरी जान घबराओ मत, देखना तुम न केवल इस लण्ड को पूरा अन्दर ले लोगी और मजे ले ले कर बुर चुदवाओगी और फिर गांड में भी लेने की जिद करोगी. अभी तू इसको अपने मुँह में लेकर इसको चूस दे. उसने मेरा तंदरुस्त लौड़ा चूसना शुरू कर दिया. हम 69 की पोजीशन में आ गए और लण्ड बुर दोनों की चुसाई होने लगी. कुछ देर बाद मेरी अनमैरिड साली साहिबा बोली- बस अब और मत तड़पाओ.. जीजाजी, जल्दी से लण्ड अन्दर डाल दो.

मैंने उस बहिन की लौड़ी की दोनों टांगों को हवा में उप्पर उठाया और हल्के से लण्ड को चुत पर रख कर धक्का दिया तो लण्ड अन्दर नहीं गया.. बाहर ही फिसल गया. फिर थोड़े जोर से धक्का दिया. उसकी चुत पूरी गीली होने के कारण टोपा अन्दर चला गया. थोड़ा और जोर लगाया और लण्ड थोड़ा और अन्दर डाल दिया. मेरी ब्यूटीफुल साली दर्द से चिल्लाने लगी और ‘ऊई माँ..’ करने लगी. मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में लेकर कैद कर लिया और रुक कर किस करते हुए उसकी जबान को चूसने लगा.

जैसे ही उस अनमैरिड चुत का दर्द कम हुआ तो मैंने एक खतरनाक शॉट दे मारा जिससे मेरा पूरा लण्ड मेरी अनमैरिड साली की अनचुदी भोसड़ी की सील चीरता हुआ अन्दर बच्चेदानी की जड़ तक घुस गया दर्द के मारे मेरी अनमैरिड साली साहिबा बुरी तरह से छटपटाने लगी और छूटने की प्रयास करने लगी. मैंने शोर्ट लगाने बंद कर दिए और उसके होंठों को चूसता रहा. कुछ समय बाद जब मेरे लण्ड ने मेरी अनमैरिड साली की चूत से दोस्ती कर ली और उसका दर्द कम हुआ तो मैंने हल्के हल्के शोर्ट लगाने शुरू कर दिए.

अब उसको भी चुदवाने का दर्द कम महसूस हो रहा था और उसको भी चुदाई का वास्तविक आनंद आना शुरू हो गया था, तो मेरी अनमैरिड साली साहिबा भी चूतड़ को उठा कर नीचे से झटके लगाने लगी. कुछ ही देर की बहुत शानदार चुदाई में उसकी चुत रसीली हो गई जिससे लण्ड ने प्रजनन नलिका में सटासट अन्दर बाहर होना शुरू कर दिया. अब मेरी कच्ची कली जैसी जवान साली को भी चुदवाने में बेहद आनंद आने लगा और मेरी अनमैरिड साली साहिबा अपनी गद्देदार गांड उठाते हुए मेरे लौड़े की हर ठोकर का जबाव देने लगी.

  सेक्स का चस्का पार्ट 1 - बहिन ने निरोध लेने भेजा Free XXX Hindi Chudai Ki Kahani

साथ ही मेरी अनमैरिड साली साहिबा आहें भरने लगी और बोली- आह.. चोदो और जोर से चोदो जीजाजी.. खूब जोर से चोदो.. फाड़ दो मेरी अनचुदी बुर को.. उम्म्ह… अहह… हय… याह… बहुत आनंद आ रहा है मेरी जान. उसकी आवाजों से मेरा भी जोश बढ़ रहा था. यहाँ भी देखें>> प्यासी भौजाई देवर से चुदवाने के लिए पागल सी हो गयी अन्तर्वासना फ्री अश्लील XXX सेक्स कहानी हिंदी में मैं भी खूब तेज झटके लगाने लगा. थोड़ी देर में मेरी अनमैरिड साली साहिबा अकड़ने लगी और बोली- मेरी जान तेज करो.. मेरा होने वाला है.

उसने मुझे कस कर पकड़ना शुरू कर दिया और तभी उसकी फटी हुई चुत का गरम गरम पानी निकल गया. चुदते चुदते पानी निकलते ही मेरी कुंवारी साली साहिबा निढाल हो कर पड़ गई. पहले यो मैंने सोचा कि इसकी झड़ी हुई भोसड़ी को लगातर चोदा चादी करता रहूँ. पर उसकी शिथिलता ने मुझे लण्ड बाहर निकालने पर मजबूर कर दिया. दूसरी बात ये भी थी कि लण्ड को भी बुर की रगड़ का वास्तविक आनंद नहीं मिल रहा था. मैंने लण्ड बाहर खींचा और रुक कर साली को दोबारा गरम करना प्रारम्भ करा.

मेरा तंदरुस्त लौड़ा उसके ब्लड और पानी से बुरी तरह से सन गया था. मैंने उसकी ही सलवार से उसकी ब्लड से संदी बुर और स्पर्म से संदे मेरे शानदार पेनिस को साफ किया और दोबारा उसकी फटी हुई अनमैरिड बुर को चाटना प्रारम्भ करा. कुछ ही पलों में मेरी जबान की नरमाहट से मेरी ब्यूटीफुल साली फिर से हॉट होने लगी और खुद ही लण्ड को पकड़ कर अन्दर डालने लगी.

इस बार मैंने उसको मेरे लौड़े के ऊपर बैठने को कहा तो मेरी अनमैरिड साली साहिबा मेरी लुल्ली को अपनी चूत में फंसा कर बैठ गई और पूरा लण्ड अन्दर लेने के बाद आहिस्ता आहिस्ता झटके मारने लगी और करीब एक दस मिनट तक मेरे लौड़े पर उप्पर निचे कूदने के बाद हम दोनों का पानी निकल गया और हम दोनों नंगे ही एक दुसरे से चिपक कर लेट गए. दोस्तों उम्मीद करते है की आप सभी को हम जीजा और साली की चुदाई की यह गन्दी फ्री अश्लील XXX सेक्स कहानी हिंदी में “ससुराल में 18 साल की अनमैरिड साली की अनचुदी बुर की पहली खतरनाक और धमाकेदार चुदाई Indian XXX Hindi Sex Story” बहुत पसंद आई होगी.

और नयी नयी हिंदी सेक्स स्टोरी यहाँ पर देखें : हिंदी सेक्स कहा नियाँ Free XXX Hindi Nonveg Sex Story For Adults 18+ Hindi Chudai Kahani Hindi Sex Stories